साढ़े तीन हजार अफसरों के खिलाफ जांच जारी, पोर्टल के जरिए जानकारी होगी जगजाहिर

नई दिल्ली: अफसरों के भ्रष्टाचार के खिलाफ अब कार्रवाई कहीं ज्यादा पारदर्शी होगी. अफसरों की विभागीय जांच को पूरी तरह पेपरलेस कर दिया गया है. कार्मिक मंत्रालय ने एक पोर्टल लांच किया है जिसमें सारी जानकारी ऑनलाइन रहेगी. फिलहाल ऐसे एक-दो नहीं, 3500 अफसरों के खिलाफ जांच चल रही है.

कार्मिक मंत्रालय की मानें तो इस इस पोर्टल में उन सब अफसरों के ब्योरे मिल जाएंगे जिनके खिलाफ रिश्वतखोरी या फर्जीवाड़े के मामले में विभागीय जांच चल रही है. भारत सरकार ने इस पोर्टल के जरिए अब सारी कार्रवाई पेपरलेस कर दी है. यह सारी जानकारी आई क्लाउड पर रहेगी. कार्मिक मंत्री जितेंद्र सिंह का कहना है "प्रधानमंत्री का लक्ष्य है मैक्सिमम गवर्नेन्स और उसी के तहत पारदर्शिता लाई जा रही है."  

वैसे यह बात कुछ हैरान करती है कि कितने सारे अफसरों के खिलाफ ऐसी जांच चल रही है. केंद्रीय सतर्कता आयोग के आंकड़ों के मुताबिक ग्रुप ए के 3500 अफसरों के खिलाफ विभागीय जांच चल रही है. ज़्यादातर के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला है. केंद्र में 39 आईएएस अफसरों के खिलाफ भी भ्रष्टाचार के आरोप हैं. सेंट्रल सेक्रेट्रिएट के 29 अफसरों के खिलाफ जांच जारी है.

टिप्पणियाँ