रवि प्रदोष व्रत आज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
रवि प्रदोष व्रत आज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रवि प्रदोष व्रत आज: हमेशा निरोगी रखता है यह व्रत, शाम को इस तरह करें पूजा,

shiv parvati vivahआज रवि प्रदोष व्रत है। रविवार को आने वाला यह प्रदोष व्रत स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। इस व्रत से मनुष्य की स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां दूर होती हैं तथा मनुष्य निरोगी हो जाता है। यह व्रत करने वाले समस्त पापों से मुक्त भी होते है।
रवि प्रदोष व्रत की पूजा का समय शाम 4.30 से शाम 7.00 बजे के बीच उत्तम रहता है इसलिए इस समय पूजा की जानी चाहिए।
ऐसे करें पूजा
नैवेद्य में जौ का सत्तू, घी एवं शकर का भोग लगाएं, तत्पश्चात आठों दिशाओं में 8‍ दीपक रखकर प्रत्येक की स्थापना कर उन्हें 8 बार नमस्कार करें। इसके बाद नंदीश्वर (बछड़े) को जल एवं दूर्वा खिलाकर स्पर्श करें। शिव-पार्वती एवं नंदकेश्वर की प्रार्थना करें।
इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।