Rahul Gandhi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Rahul Gandhi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Congress Manifesto LIVE UPDATES: कांग्रेस का 'जन आवाज घोषणापत्र' जारी कर राहुल गांधी ने दिया नारा- गरीबी पर वार, 72 हजार

Congress Manifesto 2019 LIVE UPDATES: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में सत्ता की बागडोर अपने हाथ में थामने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों में सियासी होड़ जारी है. मोदी सरकार यानी बीजेपी को केंद्र से हटाने के लिए कांग्रेस चुनाव से पहले ही लगातार वादों के फेहरिस्त लगा चुकी है. मगर आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र (Congress Manifesto 2019) जारी किया. बता दें कि 11 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होना है. ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से लेकर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) तक सभी ताबड़तोड़ प्रचार में जुटे हुए हैं. सभी राजनीतिक पार्टियां जनता को लुभाने की कोशिश में लगी हुई हैं. बीजेपी को हराने के लिए और सत्ता में वापसी की उम्मीद से राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार की दोपहर कांग्रेस का घोषणापत्र (Congress Manifesto) जारी किया, जिसमें कई अहम वादों की फेहरिस्त है. इस मौके पर सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, कांग्रेस की घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष पी चिदंबरम और दूसरे वरिष्ठ नेताओं के मौजूद हैं. 

क्या स्मृति इरानी अमेठी के साथ वायनाड में भी देंगी राहुल गांधी को चुनौती?

क्या स्मृति इरानी अमेठी के साथ वायनाड में भी देंगी राहुल गांधी को चुनौती? 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस चीफ राहुल गांधी अमेठी के साथ केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ेंगे। ऐसा पहली बार होगा की वह दो लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ेंगे। यह ऐलान एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस नेता AK एंटनी और रणदीप सुरजेवाला ने किया। एंटनी ने कहा कि केरल की वायनाड सीट सांस्कृतिक और भौगोलिक रूप से काफी महत्वपूर्ण है। यह सीट केरल तमिलनाडु और कर्नाटक को जोड़ती है। ऐसे में राहुल गांधी वायनाड सीट से लड़ेंगे तो यह एक तरह से पूरे दक्षिण भारत का प्रतिनिधित्व होगा।

Loksabha Elections : राहुल गांधी अमेठी के साथ वायनाड से चुनाव लड़ेंगे

अनिश्चितताओं और चिंताओं के बीच कांग्रेस ने राहुल गाँधी को वायनाड से चुनाव लड़ाने की घोषणा की की है ।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो सीटों से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। AICC मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में, एंटनी ने ये घोषणा किया की राहुल गांधी राहुल गांधी अमेठी के साथ वायनाड से चुनाव लड़ेंगे ! अंटोनी ने कहा की राहुल गाँधी का यहाँ से चुनाव लड़ना कांग्रेस को मज़बूत करेगा और कर्नाटक और केरला दोनों को उनकी जीत से फायदा होगा !यह सीट सांस्कृतिक और भौगोलिक रूप से काफी अहम है। यह केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु की सीमाओं को जोड़ती है। ऐसे में राहुल का यहा से चुनाव लड़ना एक तरह से पूरे दक्षिण भारत का प्रतिनिधित्व होगा।

ग़रीब परिवारों को हर साल 72,000 रुपये देने का ऐलान , क्या कांग्रेस को इस घोषणा का चुनावी फ़ायदा मिलेगा?क्या सब्सिडी को हटा कर फंड की व्यवस्था की जाएगी ?

राहुल गांधी ने भारत के पांच करोड़ बेहद ग़रीब परिवारों को हर साल 72,000 रुपये देने का ऐलान किया है. क्या कांग्रेस को इस घोषणा का चुनावी फ़ायदा मिलेगा?
लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इंदिरा गांधी के गरीबी हटाओ के नारे को आगे बढ़ाया है। राहुल गांधी ने सोमवार को गरीबों के लिए न्यूनतम आमदनी की स्कीम का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि यह आय सीमा 12,000 रुपये महीने होगी।कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया कि इस तरह की न्यूनतम आय योजना दुनिया में कहीं नहीं है। उन्होंने साफ करते हुए कहा कि न्यूनतम आय सीमा 12,000 रुपये होगी और इतना पैसा देश में मौजूद है। 

क्या राहुल गांधी 2019 में प्रधानमंत्री मोदी के सामने टिकेंगे?



डीएमके नेता एमके स्टालिन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम विपक्षी दलों की ओर से प्रधानमंत्री पद के लिए प्रस्तावित किया था. लेकिन यह सुझाव कई विपक्षी दलों को पसंद नहीं आया. स्टालिन ने इसके बाद सोमवार को अपने प्रस्ताव पर सफाई देते हुए एक बयान जारी किया. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी धर्मनिरपेक्ष ताकतों को एकजुट कर सकते हैं. स्टालिन ने कहा, 'प्रधानमंत्री के रूप में राहुल गांधी को पेश करना, धर्म निरपेक्ष ताकतों के लिए सही है.' साथ ही उन्होंने इस पर जोर दिया कि भाजपा शासित तीन राज्यों में कांग्रेस की जीत राहुल गांधी की वजह से हुई है !

मसलन, 'क्या राहुल गांधी के नाम पर विपक्ष एकजुट हो सकता है? उनके नाम पर कई विपक्षी नेता सहमत नहीं हैं, फिर विपक्षी गठबंधन का क्या भविष्य होगा? क्या राहुल गांधी 2019 में प्रधानमंत्री मोदी के सामने टिकेंगे?'

ऐसे ज़्यादातर सवाल भाजपा और उसके शीर्ष नेता यानी प्रधानमंत्री मोदी की 'अपराजेय छवि' के बोझ से दबे नज़र आते हैं!

ये सवाल स्वाधीनता-बाद की भारतीय राजनीति के संक्षिप्त इतिहास को भी नज़रंदाज करते हैं !

Bharat Bandh LIVE : तेल की कीमतों पर भारत बंद, राहुल गांधी बोले - पहली बार इतनी खराब हालत में पहुंचा देश


पेट्रोल और डीजल के लगातार बढ़ते दामों के बाद अब विपक्ष सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर आया है। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला। कांग्रेस ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। कांग्रेस को भारत बंद में 21 राजनीतिक पार्टियों का साथ मिल रहा है। भारत बंद का असर देश के कई हिस्सों में सोमवार सुबह से ही देखने को मिल रहा है। कहीं आगजनी, कहीं पत्थरबाजी कहीं ट्रेन रोकने तो कहीं नेशनल हाईवे को जाम करने की खबर आने लगी हैं।




हालांकि तृणमूल कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियों ने बंद से अपने को अलग रखा है। पार्टी का कहना है कि बढ़ी कीमतों को लेकर उनका विरोध तो है, लेकिन बंद का रास्ता ठीक नहीं है, इससे लोगों को परेशानी होती है।पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस, नवीन पटनायक की बीजू जनता दल, महाराष्ट्र सरकार में भाजपा की सहयोगी शिवसेना, नीतीश कुमार की जनता दल (यू) और दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने इस बंद का विरोध किया है। आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को ही स्पष्ट कर दिया था कि वह कांग्रेस द्वारा बुलाए गए सोमवार के भारत बंद में शामिल नहीं होगी।
यहां पढ़ें विपक्ष के भारत बंद को लेकर हर अपडेट
  • विपक्षी नेताओं के साथ तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर धरना दे रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि साल 2014 में प्रधानमंत्री मोदी जहां भी गए कोई न कोई वायदा करते आए लेकिन अब वह अपने वायदों को पूरा नहीं कर पा रहे हैं। राहुल ने 80 के पार पहुंची पेट्रोल की कीमतों के लिए भी सरकार को जिम्मेदार बताया। 
  • उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा कि तेल की कीमतों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जवाब क्यों नहीं दे रहे हैं। राहुल गांधी ने कहा, 'प्रधानमंत्री कहते हैं कि पिछले 4 साल में जो हुआ वह बीते 70 साल में नहीं हुआ। यह बात सच है क्योंकि बीते 70 साल में देश की हालत इतनी खराब नहीं थी।'
  • भारत बंद के मौके पर बोलते हुए राहुल गांधी ने विपक्षी एकता की भी बात की। उन्होंने कहा कि विपक्ष मिलकर आगामी चुनाव में भाजपा सरकार को मिलकर हराएगा।  

सोनिया बोलीं-राहुल गांधी जल्द बन सकते हैं कांग्रेस अध्यक्ष



कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने पुत्र और पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी के जल्द ही पार्टी का अध्यक्ष बनने के संकेत दिए हैं। सोनिया ने कहा कि आप इस बारे में कई सालों से सवाल पूछ रहे हैं और यह अब होने जा रहा है। बता दें कि सोनिया ने पहली बार राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने पर खुलकर बात की है। इससे पहले भी राहुल के पार्टी अध्यक्ष बनाने की बात होती थी, लेकिन सोनिया का कभी कोई बयान नहीं आया था।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की किताब 'द कोएलिशन इयर्स 1996-2012' के लॉन्च के मौके पर सोनिया गांधी ने यह बात कही। एक चैनल से बातचीत में उन्होंने राहुल की तरफ इशारा करते हुए कहा कि जल्द ही यह होने वाला है। हालांकि राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर बातचीत से इनकार कर दिया।