Saraswati लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Saraswati लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सरस्वती पूजा कल तैयारी अंतिम चरण में



विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा के पर्व बसंत पंचमी में गिनती के दिन ही शेष रह गए हैं। इसको लेकर शहर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में तैयारियां तेज हो गई हैं। इस क्रम में कारीगर भी रात-दिन एक कर मां सरस्वती की प्रतिमाओं को तैयार करने में जुटे हुए हैं। जिले में कई स्थानों पर पंडाल सजाकर प्रतिमाओं को स्थापित कर विधिवत पूजन अर्चन किया जाता है।

इन सामग्री से करें पूजन

मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए विधि-विधान से पूजन करें। पूजा के दौरान कलश, पान, सुपाड़ी, लौंग, इलायची, शृंगार सामग्री, सफेद व पीला वस्त्र, पीला सरसों फूल, आम का मंजर, अक्षत, पल्लव, चंदन, हल्दी, अबीर, घी, सफेद फूल आदि से प्रतिमा स्थापित करें। मां को बैर, गाजर, मिसरीकन, सफेद मिठाई, बतासे आदि का भोग लगाएं। दूध, घी, दही, मधु, शक्कर से पंचामृत बनाकर चढ़ाएं।