ज़रूर पढ़ें

shivraj लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
shivraj लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, 13 दिसंबर 2018

कमलनाथ मध्य प्रदेश के नये मुख्यमंत्री


कांग्रेस ने गुरुवार को कमल नाथ को मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के रूप में घोषित किया


  • नाथ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में अपना पहला कार्यकाल पूरा करेंगे
  • उन्होंने छिंदवाड़ा से लोकसभा सांसद के रूप में नौ बार सेवा की है
  • 72 वर्षीय, नाथ 16 वीं लोक सभा में वरिष्ठ सदस्य हैं


मंगलवार को विधानसभा के परिणामों की घोषणा के बाद, कमल नाथ या ज्योतिरादित्य सिंधिया को नए मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त किया जाएगा या नहीं, इस पर अटकलें बढ़ती जा रही थी । कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को 114 सीटों से हरा दिया जबकि बीजेपी 109 सीटों पर विजयी हुई , कांग्रेस ने विधानसभा में 116 सीटों के निर्वाचित विधायकों से समर्थन और बहुमत दिखाते हुए सरकार बनाने का दावा किया है ।

गुरुवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के निवास ने एआईसीसी पर्यवेक्षकों द्वारा निरंतर दौरे के बाद और उनकी राय के बाद ये फैसला किया गया की कांग्रेस की मध्य प्रदेश की कमान अब कमल नाथ संभालेंगे ! ये भी रोचक बात है की कमल नाथ और शिवराज निजी ज़िन्दगी में अच्छे दोस्त भी है ! ऐसे में देखना ये है की कमल नाथ मध्य प्रदेश की सियासी डोर को कितनी मज़बूती से संभालेंगे ! उधर अकाली दाल ने कमल नाथ को सीएम बनाये जाने पर विरोध प्रकट किया है !

शिवराज सिंह चौहान वास्तव में बीजेपी के अभिमानी नायक हैं


विधानसभा चुनाव के हाल में आए नतीजों में भाजपा के हाथ से मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान तीनों प्रमुख राज्य फिसल चुके हैं ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आलोचक ये सवाल कर रहे है की जीत का श्रेय मोदी-शाह लेते हैं, तो हार का ठीकरा भी उन्हीं के माथे आना था मगर भाजपा नेताओं ने कहा- पार्टी की नीतियों की वजह से हुई हार !

इसके विपरीत सबके चहेते शिवराज सिंह चौहान ने जिस तरह बीजेपी की हार का सेहरा अपने सर लिया वो वाकई प्रशंसा और सम्मान के काबिल है ! उनका सरल स्वभाव उनके प्रभावशाली व्यक्तित्व का प्रतिबिंब है !

एक बीजेपी सांसद ने कहा है कि भाजपा ने लगभग उन सभी विधानसभा क्षेत्रों को खो दिया जहां किसान परेशान थे. कई नेताओ का ये भी मन न है की शिवराज सिंह चौहान ने “अगड़ी जातियों को परेशान नहीं किया होता” तो पार्टी “आसानी से जीत” जाती. शर्मा ने दावा किया कि इस कारण पार्टी ने कम से कम 15 सीटें खो दीं !

मगर ट्विटर पर कई लोगो ने शिवराज की प्रशंसा करी , कई लोगो का यह मत है की कांग्रेस को सत्‍ता की 'सीढ़ी' तो मिल गई है लेकिन शिवराज को पूरी तरह मात नहीं दे पाए ! उनकी सरलता को मोदी शाह के व्यव्हार से तुलना करते बहुत सारे ट्विटर पोस्ट मिले ! कई लोगो ने  twitter hashtag #shivraj4PM भी चला डाला , मगर  शिवराज सिंह  ने  कहा की मैं केंद्र नहीं जाऊंगा, मैं मध्य प्रदेश में रहूंगा और मध्यप्रदेश में मर जाऊंगा।

शिवराज सिंह की बदौलत ही कांग्रेस को मध्य प्रदेश में कड़ी टक्कर मिली  ! यही कारन है मध्‍यप्रदेश के विधानसभा चुनाव के नतीजे इस बार टी20 मैच के तरह बेहद रोचक रहे !

दूसरे शब्‍दों में कहें तो मध्‍यप्रदेश के चुनाव परिणामों को शिवराज की 'हार' के बजाय कांग्रेस की 'जीत' कहा जाना उपयुक्‍त होगा !

 







शुक्रवार, 5 अक्तूबर 2018

शिवराज सरकार ने प्रदेश के पुजारियों को बड़ा तोहफा दिया है

चुनाव से पहले हर वर्ग को खुश करने में जुटी शिवराज सरकार ने प्रदेश के पुजारियों को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने पुजारियों की मांग पूरी करते हुए उनका मानदेय तीन गुना बढ़ाकर 1500 रुपए महीना कर दिया है। इसके साथ ही मंदिरों की 10 एकड़ तक कृषि भूमि जोतने और इससे ज्यादा कृषि भूमि की नीलामी के अधिकार भी दे दिए हैं। उन्हें संबल योजना का लाभ भी दिया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महासंघ और ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के बाद यह घोषणा की है, इस सम्बन्ध में आदेश भी किये जा रहे हैं।

विधानसभा चुनाव की आचार संहिता की संभावनाओं के बीच सोमवार को मंत्रालय में हुई कैबिनेट बैठक में रिकॉर्ड 80 मुद्दों पर विचार किया गया। इसमें बड़े वर्ग को साधते हुए सरकार ने मिड डे मील के 2.23 लाख रसोईयों और 90 हजार अतिथि विद्वानों के मानदेय में दोगुना वृद्धि को हरी झंडी दी।

वहीं, अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर की खेलकूद प्रतियोगिता में पदक जीतने वाले खिलाड़ी को सब इंस्पेक्टर और आरक्षक की नौकरी दी जाएगी। दतिया और भिंड नगर पालिका को नगर निगम बनाने की सैद्धांतिक सहमति कैबिनेट ने दी। छिंदवाड़ा में उद्यानिकी कॉलेज खोलने का निर्णय लिया गया तो वायु संपर्कता नीति 2018 को भी मंजूरी दी गई।

रविवार, 10 सितंबर 2017

मुख्‍यमंत्री शिवराज चित्रकूट दौरे पर, कई घोषणाएं की

चित्रकूट। मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज अपनी पत्‍नी के साथ चित्रकूट दौरे पर हैं। यहां उन्‍होंने कामतानाथ के दर्शन किए और प्राचनी मुखारविन्द से शूरू की कामदगिरि परिक्रमा को भी पत्‍‍‍‍नी के साथ पूरा किया। इस दौरान उन्‍होंने लोगों से मुलाकात की और इसी दौरान प्रज्ञा चक्षु तुलसी स्‍कूल की घोषणा, कामदगिरि क्षेत्र में श्‍मशान घाट का निर्माण की घोषणा की। इसके अलावा उन्‍होंने चित्रकूट स्वस्थ्य केंद्र का उन्नयन का भी वादा किया। उनका कहना था कि चित्रकूट विकास प्राधिकरण के गठन कामदगिरि में वृक्षारोपण सम्पूर्ण परिक्रमा क्षेत्र में शेड का निर्माण किया जाएगा।
इस दौरान एक पत्रतकार ने उनसे दिग्विजय सिंह के प्रधानमंत्री मोदी को लेकर किए गए ट्वीट को लेकर सवाल पूछा तो उनका कहना था कि "जाको प्रभु दारुण दुःख देहि, वाकी मति पहले हर लेहि" मैया मंदाकनी के पास खड़ा हूं, इस पर और कुछ नही कहना, चौपाई में ही सब छुपा है।

लोकप्रिय पोस्ट