मरते मरते बचीं जूही परमार, पूरी ज़िन्दगी आंखों के सामने आ गई और फिर भगवान से कहा सॉरी

कोई टिप्पणी नहीं

1 मार्च 2019 को जब हम सभीं होली के रंग और भंग में रमे थे तब टीवी एक्ट्रेस मौत और ज़िन्दगी के बीच झूल रही थी। बता दें कि 21 तारीख़ को जूही ने अपनी मौत को बेहद करीब से देखा और मानो उसे छू कर वो वावास आ गई। जूही को ख़ुद लग रहा था कि वो पांच मिनट से ज्यादा जिंदा नहीं रह पाएंगी।

बता दें कि हाल ही में जूही ने अपने इस भयानक अनुभव को पाने सोशल अकाउंट पर अपने फैन्स के साथ शेयर किया और बताया कि मैं इस दिन अपनी सहेली और टीवी एक्ट्रेस आश्का गरोडिया के साथ थीं और रात को तकरीबन 10.30 -11.00 बजे मुझे हॉस्पिटल लाया गया। मेरा दम घुट रहा था और मैं बिलकुल सांस नहीं ले पा रही थी। 

डॉक्टर्स मेरे आसपास थे मगर मुझे लग रहा था कि मैं 5 मिनट से ज्यादा नहीं जी पाउंगी। मैंने आश्का से कहा कि मेरी बेटी का ध्यान रखना। इस समय मुझे कुछ फील नहीं हो रहा था, बस मेरी बेटी का मुस्कुराता हुआ चेहरा सामने आ रहा था।जूही ने अपने इस पोस्ट में यह भी लिखा कि मैं इस समय सबको माफ़ कर चुकी थी, मेरी पूरी ज़िन्दगी में मेरी आंखों से सामने थी। धीरे धीरे मुझे लगा कि मेरे आसपास खड़े डॉक्टर्स मुझसे दूर जा रहे हैं फिर मैंने अपना दिल थामा और भगवान से बात की। मुझे लग रहा था कि मेरी आत्मा भी मुझसे दूर जा रही थी और मैं ऐसा होने देना नहीं चाहती थी, मैं मेरी बेटी के साथ ये नहीं कर सकती थी। मैंने भगवान से कहा कि सॉरी क्यूंकि मैंने कई बार अपनी ज़िन्दगी को ग्रांटेड लिया है, मैंने कई बार बुराइयों पर नज़र रखी बल्कि मुझसे ज़िन्दगी में मिली दुआओं के बारे में सोचना चाहिए था। सॉरी, पर मुझे मेरी बेटी के लिए जीने दो। मैंने इस समय ये नहीं सोचा कि मैं तलाक़शुदा हूं, सिंगल पेरेंट हूं और ज़िन्दगी में बहुत सारी तकलीफें हैं, मुझे बस मेरी बेटी दिखाई दे रही थी।

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.

Please share your suggestions and feedback at businesseditor@intelligentindia.in