सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पीट-पीटकर हत्या किए जाने की खबरों से खौलने लगता है खूनः प्रियंका गांधी



नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को नेशनल हेराल्ड के स्मारक संस्करण को लॉन्च किया। इस कार्यक्रम में प्रियंका गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कई विपक्षी दलों के नेता भी मौजूद रहे। कार्यक्रम के दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा की पीट-पीटकर हत्या की घटनाओं से उन्हें बेहद गुस्सा आता है और उनका खून खौलने लगता है।


नेशनल हेराल्ड द्वारा स्मारक प्रकाशन जारी किए जाने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम से इतर प्रियंका से पूछा गया था कि अतिसर्तकता के नाम पर पीट-पीटकर हत्या जैसी घटनाओं को लेकर क्या उनके भी विचार अपनी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के समान ही हैं। जिसके जवाब में प्रियंका गांधी ने ये बातें कहीं।


प्रियंका ने एक चैनल से बातचीत में कहा, "मेरे विचार भी पूरी तरह से वही हैंष इनसे मुझे बेहद गुस्सा आता है, जब मैं ऐसी चीजें टीवी या इंटरनेट पर देखती हूं तो मेरा खून खौलने लगता है। मुझे बहुत ज्यादा गुस्सा आता है। मुझे लगता है कि इससे सही सोच वाले हर एक व्यक्ति का खून खौलना चाहिए।"


राष्ट्रपति ने खुलेआम की जा रही हत्याओं पर जताई चिंता


राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अनियंत्रित भीड़ के द्वारा खुलेआम की जा रही हत्याओं पर बेहद गंभीर चिंता जाहिर की। राष्ट्रपति ने बेकाबू भीड़ की लगातार बढ़ती ऐसी हरकतों की ओर सीधे इशारा करते यह सवाल उठाया है कि क्या हमारी व्यवस्था के बुनियादी वसूलों के प्रति हम सजग हैं? प्रणब ने कहा कि अगर हम ऐसी घटनाओं पर सजग नहीं होंगे तो हमारी अगली पीढ़ी हमसे यह हिसाब मांगेगी कि हमने क्या किया।


राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की यह टिप्पणी कथित गोमांस विवाद को लेकर ट्रेन में फरीदाबाद के एक युवक की भीड़ के हत्या करने के ताजा प्रकरण के संदर्भ से जोड़ कर देखी जा रही है। राष्ट्रपति ने जवाहर लाल नेहरू द्वारा स्थापित कांग्रेस के अखबार नेशनल हेराल्ड के आजादी के 70 साल पर प्रकाशित विशेष संस्करण की लांचिंग के मौके पर यह बात कही।


प्रणब ने कहा कि आए दिन समाचार पत्रों में बेकाबू भीड़ के हत्या करने की घटनाएं सामने आ रही हैं। ऐसे में यह सवाल उठाना लाजिमी है कि क्या हम इतने सजग हैं कि हमारे संविधान के बुनियादी उसूल कायम रहे। राष्ट्रपति ने देश में सभी धर्मो और संप्रदायों के साथ क्षेत्रीय और भाषायी विविधता के बावजूद लोगों के एक राष्ट्र के रूप में सहज जीवन को संविधान की अमूल्य देन करार दिया। उन्होंने कहा कि हमारा संविधान केवल शासन का विधान नहीं बल्कि सामाजिक और आर्थिक समरसता को सुनिश्चित करने वाला मैग्नाकार्टा है।


देश में असहिष्णुता के विरद्ध खड़े होने की जरूरत


कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सोनिया ने अध्यक्षीय संबोधन के दौरान कहा कि देश में लगातार बढ़ रही असहिष्णुता और दिखावे के खिलाफ खड़ा होने की जरूरत है। भाजपा और संघ का नाम लिए बिना सोनिया ने कहा कि जिनका आजादी के इतिहास से कोई सरोकार नहीं रहा, वे हमारी आजादी के महापुरुषों की विरासत को मिटाने या घटाने की कोशिश कर रहे हैं। साथ ही जो उनके विचारों से सहमत नहीं है उनको दबाव या दूसरे हथकंडों के जरिए चुप किया जा रहा है। सोनिया ने कहा कि हम क्या खायें और क्या पीएं, किससे मिले-जुलें यह कोई और तय करे, ऐसी व्यवस्था बनाने की कोशिश हो रही है। ऐसे में देश एक बार फिर दोराहे पर है। अगर अब हम नहीं इसके खिलाफ बोलेंगे तो हमारी चुप्पी को मूक सहमति मान ली जाएगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Gujarat University Result: जारी हुआ एलएलबी का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

नई दिल्ली:

गुजरात यूनिवर्सिटी (Gujarat University) ने एलएलबी के विभिन्न सेमेस्टर का रिजल्ट (Gujarat University Result) जारी कर दिया है. उम्मीदवारों का रिजल्ट गुजरात यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट gujaratuniversity.ac.in पर जारी किया गया है. उम्मीदवार इस वेबसाइट पर जाकर ही अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं. बता दें कि एलएलबी की परीक्षाएं पिछले साल आयोजित की गई थी. उम्मीदवार नीचे दिए गए डायरेक्ट लिंक से अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं.


आपको बता दें कि कई बार वेबसाइट क्रैश हुई है, ऐसे में हो सकता है कि ये लिंक न खुले. ऐसे में आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलों कर भी अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं.

Gujarat University LLB 2018 Result ऐसे करें चेक


स्टेप 1: उम्मीदवार अपना रिजल्ट चेक करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट gujaratuniversity.ac.in या http://www.gujaratuniversity.org.in/result_e/result/result.html पर जाएं.
स्टेप 2: वेबसाइट पर दिए गए रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें.
स्टेप 3: अपना LLB का सेमेस्टर चुने.
स्टेप 4: अब रिजल्ट की पीडीएफ आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगी.
स्टेप 5: आप इस पीडीएफ को डाउनलोड कर सकते हैं.

RRB Group D result: खत्म होने वाली इंतजार की घड़ी, आने वाला है ग्रुप डी परिणाम

RRB Group D results 2018-19: रेलवे भर्ती बोर्ड अब किसी भी समय आरआरबी ग्रुप डी परिणाम घोषित कर सकता है। रिजल्ट की घोषणा क्षेत्रीय आरआरबी की आधिकारिक वेबसाइट्स पर की जाएगी। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरआरबी ग्रुप डी रिजल्ट की घोषणा आज (16 फरवरी) या कल (17 फरवरी) में हो सकती है। यही नहीं अगले सप्ताह तक आरआरबी ग्रुप डी परीक्षा के अगले चरण पीईटी (शारीरिक दक्षता परीक्षा) के प्रवेश पत्र भी जारी हो सकते हैं।

इंडियन एक्सप्रेस डॉट कॉम पर प्रकाशित खबर के मुताबिक आआरबी के अधिकारी ने कहा है कि रेलवे भर्ती बोर्ड ग्रुप डी के नतीजे 16 फरवरी यानी आज जारी कर सकता है। नतीजे क्षेत्रीय रेलवे भर्ती बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट्स पर रात 11 बजे से उपलब्ध हो सकते हैं। यह भी कहा गया है कि अगले सप्ताह से पीईटी के एडमिट कार्ड जारी हो सकते हैं। रेलवे ग्रुप डी की सीबीटी परीक्षा 17 सितंबर से शुरू हुई थी और 17 दिसंबर तक चली। 63 हजार पदों पर भर्ती के लिये इस परीक्षा में 1.89 करोड़ उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया था। 1.89 करोड़ उम्मीदवारों को अब रिजल्ट का इंतजार है।




स्टेप 1- अपने आरआरबी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। आ…

पुलवामा से ठीक पहले, उसी पैटर्न पर ईरान में भी हमला, 27 सैनिकों की मौत

जम्मू कश्मीर के पुलवामा हमले के ठीक कुछ घंटों पहले ईरान में भी आतंकियों ने रेवोलुशनरी गार्ड की बस पर आत्मघाती हमला किया था. इस हमले में ईरान के 27 जवानों की मौत हो गई. जबकि 13 घायल हैं. बताया जा रहा है कि ईरानी जवान सीमा पर गश्ती के बाद लौट रहे थे तभी हमला हुआ.

ईरान में यह आत्मघाती हमला खश-जाहेदान रोड पर हुआ. यह ठीक पुलवामा में सेना पर हमले के पैटर्न पर हुआ. रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स कर्मी सीमा पर गश्ती के बाद लौट रहे थे तब खश-जाहेदान रोड पर बस के साथ एक कार चलने लगी. जो विस्फोटकों से भरी हुई थी. तभी बस में कार आ घुसी और जोरदार धमाका हुआ. इस हमले में 27 सैनिक मारे गए और 13 घायल हो गए!

IRAN की समाचार एजेंसी IRNA के अनुसार, जैश अल-अदल या सेना के एक अलगाववादी समूह ने न्याय का दावा किया है।
यह घटना पाकिस्तान और अफगानिस्तान के साथ ईरान की अस्थिर सीमा के पास एक रेगिस्तानी सड़क पर हुई थी, जहां समूह को संचालित करने के लिए जाना जाता है। यह दो दिन बाद आता है जब ईरान ने इस्लामी क्रांति की 40 वीं वर्षगांठ को चिह्नित किया।
ट्रक को विस्फोटकों से भरा गया था जब उसमें "…