गुप्त नवरात्रि २५ फरवरी से



शारदीय नवरात्रि में देवी दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। उसी प्रकार माघी गुप्त नवरात्रि में दस महाविद्या की उपासना की जाती है। गुप्त नवरात्रि की अवधि में साधक श्यामा (काली), तारिणी (तारा), षोडशी (त्रिपुर सुंदरी), देवी भुवनेश्वरी, देवी छिन्नमस्ता, देवी धूमवाती, देवी बागलमुखी, माता मतंगी और देवी लक्ष्मी (कमला) की आराधना करते हैं। चूंकि इस नवरात्रि में दस महाविद्या की उपासना गुप्त रूप से होती है, इसलिए इसे गुप्त नवरात्रि का नाम दिया गया है।

0 Commentss