फेसबुक कमेंट पर कलेक्टरी गंवाने वाले गंगवार और चक्रवर्ती को क्लीनचिट

भोपाल। फेसबुक पर सरकार के खिलाफ कमेंट करके कलेक्टरी गंवाने वाले अजय गंगवार और सिबि चक्रवर्ती को आखिरकार क्लीनचिट मिल गई। सामान्य प्रशासन विभाग ने दोनों के खिलाफ जांच को बंद कर दिया है। वहीं, खुले में शौच मुक्ति अभियान पर सवाल उठाते हुए लेख लिखने वाली आईएएस अफसर दीपाली रस्तोगी को नोटिस देकर जवाब मांगा जाएगा। शुक्रवार को दिनभर विभाग के अधिकारियों इसकी तैयारी में लगे रहे। रस्तोगी से स्पष्टीकरण लिया जाएगा कि उन्होंने किस मंशा के साथ शासकीय कार्यक्रम की आलोचना में लेख लिखा।
सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बड़वानी के तत्कालीन कलेक्टर अजय गंगवार ने फेसबुक वॉल पर आधुनिक भारत के निर्माण में पंडित जवाहरलाल नेहरू की भूमिका और वर्तमान हालात पर कमेंट किया था। सरकार ने इसे गंभीरता से लेते हुए उन्हें कलेक्टर पद से हटाकर जवाब तलब किया था।

इसी तरह नरसिंहपुर कलेक्टर रहते हुए सिबि चक्रवर्ती ने तमिलनाडु में जयललिता की जीत पर उन्हें बधाई दी और विरोध होने पर उसे हटा लिया था। इस पर भी विभाग ने नोटिस जारी कर उनसे जवाब तलब किया था। दोनों के जवाबों का अध्ययन करने के बाद मामले को समाप्त करते हुए क्लीनचिट दे दी गई है।

वहीं, खुले में शौच से मुक्ति के लिए चलाए केंद्र और राज्य सरकार के अभियान को औपनिवेशिक मानसिकता से ग्रस्त बताने संबंधी लेख पर दीपाली रस्तोगी से जवाब तलब करने की तैयारी हो गई। सूत्रों का कहना है कि उच्च स्तर पर 1994 बैच की अधिकारी दीपाली रस्तोगी से सिविल सर्विस रूल्स के तहत नोटिस देने की तैयार चल रही है।