इंडिया न्यूज़ समाचार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
इंडिया न्यूज़ समाचार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

राहुल गांधी को 'पप्पू' कहने वाले कांग्रेसी नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता

मेरठ: राहुल गांधी को पप्पू कहकर अब तक विरोधी ही उनपर तंज कसते थे, लेकिन अब कांग्रेस के भीतर भी राहुल के लिए ऐसे शब्दों का इस्तेमाल होने लगा है. यूपी के मेरठ में कांग्रेस जिलाध्यक्ष का एक ऐसा ही व्हाट्सऐप मैसेज वायरल हो गया है. इस मैसेज में राहुल गांधी को पप्पू कहा गया है.

मैसेज लिखने वाले मेरठ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष विनय प्रधान ने राहुल की तारीफ में ये मैसेज डाला था लेकिन राहुल के लिए पप्पू शब्द के इस्तेमाल पर कांग्रेस में लखनऊ से लेकर दिल्ली तक हड़कंप मच गया. आनन-फानन में यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने विनय प्रधान को उनके पद से हटा दिया और पार्टी से भी निलंबित कर दिया.

पाकिस्तान को झटका: कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर इंटरनेशनल कोर्ट ने लगाई रोक

नई दिल्ली | भारत को कुलभूषण जाधव मामले में बड़ी कूटनीतिक सफलता मिली है. भारत ने पाकिस्तानी सैन्य अदालत के इस फैसले के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय अदालत में 8 मई को गुहार लगाई थी. जिसके बाद अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने कुलभूषण जाधव के फांसी पर अंतरिम रोक लगा दी है. बता दें भारत ने हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत आईसीजे में अपना पक्ष रखा था. जिसके आधर पर आईसीजे ने आज रोक लगाने आदेश दिया है. वहीं आईसीजे के अध्यक्ष रोनी अब्राहम ने पाकिस्तान सरकार को एक पत्र लिख कर कहा है कि वह इस तरह कार्रवाई करे जिससे इस मामले में जारी होने वाले अदालत के किसी आदेश का क्रियान्वयन संभव हो सके.
अंतर्राष्ट्रीय अदालत की विज्ञप्ति में इस बात की जानकारी दी गई है कि भारत ने पाकिस्तान पर विएना समझौता के उल्लंघन का आरोप लगाया है. अपनी याचिका में भारत ने यह भी कहा है कि इस मामले में कुलभूषण जाधव को अपना पक्ष रखने का मौका नही दिया गया था और न ही किसी भारतीय अधिकारी को उनसे मिलने दिया गया. भारत ने अपनी अपील में कहा कि उसे जाधव की गिरफ्तारी के लंबे समय बाद तक भी इसकी सूचना नहीं दी गयी और पाकिस्तान आरोपी को उसके अधिकारों की जानकारी देने में भी असफल रहा है.


मंत्री धुर्वे हो सकते है गिरफ्तार

भोपाल। बांधवगढ़ विधानसभा उपचुनाव में मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं उन्हें गिरफ्तार करके सीमा के बाहर छोड़ दिया गया। धुर्वे के खिलाफ आईपीसी की धारा 126 के तहत एफआईआर दर्ज हुई थी।

उमरिया कलेक्टर जिला निर्वाचन अधिकारी अभिषेक सिंह ने नईदुनिया से कहा कि धुर्वे को शुक्रवार की रात गिरफ्तार करके ही पुलिस थाने ले जाया गया था, वहां से उन्हें उमरिया जिले की सीमा के बाहर छोड़ा गया था।

धुर्वे की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस उन पर इस्तीफे का दबाव बना रही है। जिला निर्वाचन अधिकारी सिंह ने कहा कि नियमों के तहत कोई भी बाहरी व्यक्ति शाम पांच बजे के बाद जिले में नहीं रह सकता। मंत्री धुर्वे जिले की एक होटल में रुके थे, इसलिए हमने कार्रवाई की। अब उनके खिलाफ अदालत में मामला चलेगा।


MP में महिलाओं का खौफ, शराब ठेकेदारों ने बचाव में रखे बाउंसर

 प्रदेशभर में रिहायशी इलाके में शराब दुकानों के खिलाफ जनता के सब्र टूटने लगा है।  नैशनल और स्टेट हाइवे से पांच सौ मीटर के दायरे में शराब की दुकानों के न होने से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रिहाइशी इलाकों में शिफ्ट हो रही इन दुकानों के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है।

 इंदौर के पालदा क्षेत्र में एक हफ्ते से शराब दुकान हटाने के लिए प्रदर्शन कर रहे लोगों ने शुक्रवार को हाथों में चप्पल लेकर तेजाजी नगर चौक पर चक्काजाम कर दिया।इस दौरान   दुकानदार बाउंसर लेकर पहुँचा तो रहवासी और भड़क गए और पथराव चालू कर दिया


मध्यप्रदेश राज्य के रायसेन जिले  में भी सागर रोड स्थित पाटनदेव में नव निर्मित देशी शराब खुलने से पहले लोग पहुंच गए और जमकर विरोध जताया। लोगों का कहना था कि शराब दुकान खुलने में क्षेत्र का माहौल खराब होगा। विरोध को देखते नगर पालिका अध्यक्ष ने मोर्चा संभाला और ठेकेदार को दूसरी जगह पर दुकान खोलने की हिदायत दी दुकान खोली जा रही थी।



यूपी: जंगल में बंदरों के बीच मिली छोटी बच्ची, मोगली की तरह चलती, खाती और चिल्लाती है

उत्तर प्रदेश के बहराइच में पुलिस को एक लड़की मिली है जिसका व्यवहार सामान्य इंसानों की तरह नहीं है। वह न तो किसी से बातचीत करती है और अपने में ही गुम रहती है। इस 8 साल की लड़की ने इंसानों की जगह बंदरों को अपना साथी बनाया। वह काफी समय से बंदरों के साथ ही रह रही थी। बहराइच में गश्ती के दौरान पुलिस की एक टीम को यह लड़की बंदरों के साथ मोतीपुर रेंज के कटरनियाघाट वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में दिखाई दी। इस मामले की जानकारी देते हुए दारोगा सुरेश यादव ने कहा जब उन्होंने इस लड़की को बचाने की कोशिश की तो वह बंदरों के साथ बहुत ही खुश नजर आई।
दारोगा ने कहा जब हमने उसके पास जाना चाहा तो वहां मौजूद सभी बंदर हमपर चिल्लाने लगे और लड़की भी हमपर चिल्लाई। उन्होंने कहा कि काफी मशक्कत करने के बाद हम लड़की को वहां से निकालने में कामयाब हुए। इसके बाद हमने लड़की को इलाज के जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जिला अस्पताल के सीएमओ डीके सिंह ने बताया कि लड़की बिलकुल चुपचाप सी रहती है। वह न तो किसी से बात करती है और न ही कुछ कहती है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि उसे कोई भी भाषा समझ नहीं आती। लड़की के पास कोई व्यक्ति जाता है तो वह उससे डरकर चिल्लाने लगती है।


डॉक्टरों ने कहा कि चिल्लाने के साथ-साथ वह हिंसक भी हो जाती है। उन्होंने कहा कि इलाज के बाद लड़की की स्थिति में कुछ सुधार आया है। डॉक्टरों का कहना है कि यह लड़की न जाने कितने समय से जंगल में जानवरों के साथ रह रही थी, इस बारे में अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता। अस्पताल के एक कर्मचारी ने बताया कि वह जानवरों की तरह ही बिना हाथ का इस्तेमाल किए सीधे मुंह से खाना खाती है। इसके साथ ही उसे पैरों से चलाने की कोशिश की जाती है लेकिन वह जानवरों की तरह हाथ और पैर का इस्तेमाल करके चलती है।